|| News Today Media || || News Today Media || || News Today Media || || News Today Media || || News Today Media || || News Today Media || || News Today Media ||

न्यूज़ टुडे नालंदा – नालंदा में प्रचंड गर्मी का असर ,22 जून तक सभी विद्यालयों को बंद रखने का डीएम ने दिया आदेश ,,,,,,,

दीपक विश्वकर्मा ( 9334153201 ) नालंदा में प्रचंड गर्मी का असर पिछले दो दिनों से लगातार बढ़ता जा रहा है ,जिसके कारण जन -जीवन बिल्कुल ही अस्त-व्यस्त हो गया है | अधिकतम तापमान 41 डिग्री से ऊपर चला गया | गर्मी के कारण बाजार में वही लोग नजर आ रहे हैं  जिन्हें जरूरी काम हो | आलम यह रहा की  सड़कों पर इक्का-दुक्का ही लोग नजर आए बाकी लोग अपने घर में ही रहना ज्यादा मुनासिब समझे | इधर प्रचंड गर्मी को देखते हुए नालंदा के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने  जिले के सभी सरकारी और गैर सरकारी विद्यालयों को 22 जून तक बंद करने का निर्देश जारी कर दिया है | नेत्र चिकित्सक डॉ अजय कुमार का कहना है की गर्मी में सूरज की किरणें हमारे वातावरण में बहुत अधिक मात्रा में आती है अल्ट्रावायलेट किरणें हमारे हमारे रेटीना और हमारे कॉर्निया दोनों को नुकसान पहुंचा सकती है |

 आंख हमारा काफी सेंसेटिव पार्ट है थोड़ा भी इसमें तीखापन आता है तो यह बर्दाश्त नहीं कर पाता है | इस लिए उन्होंने लोगो से अपने आँखों का बचाव करने की अपील की है | उन्होंने लोगो से  धूप में कम निकलने  और अगर जरूरी हो तो पोलोराइस सनग्लास लगा कर चलने की सलाह दी | साथ ही उन्होंने कहा की धूप में सनग्लास के अलावे अपने सिर और चेहरे को ढक कर निकलें | ताकि आप लू से बच सकें | साथ हो उन्होंने कड़ी धूप में बच्चो पर ज्यादा ध्यान देने की बात कही | खान पान में भी उन्होंने एहतियात बरतने की अपील की है इस मौसम में जयादा फल सलाद और पानी का अधिक सेवन करने की बात कही |

इधर इस प्रचंड गर्मी में पेय जल  नहीं मिलने से बौखलाए महलपर की महिलाएं हांथो में बर्तन लेकर सड़क जाम करते हुए  स्थानीय विधायक के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया | लोगो का कहना है की सड़क के किनारे पानी की आपूर्ति होती है लेकिन गली में रहने वालों के साथ पानी की समस्या हमेशा बनी रहती है | क्योंकि गली में जलापूर्ति योजना का पाइप लाइन नही बिछाया गया है। इन लोगो ने  इसकी लिखित शिकायत डीएम और नगर निगम से की है वाबजूद स्थानीय प्रशासन के तरफ से कोई ठोस पहल नही की गई है। स्थानीय लोगों ने इस जल संकट को लेकर इसका ठीकरा सीधा स्थानीय विधायक  के ऊपर फोड़ रहे है।स्थानीय लोगों ने बताया कि चुनाव के समय भोली-भाली जनता के सामने विधायक के द्वारा पानी की समस्या को लेकर वादे तो कर दिए जाते हैं लेकिन चुनाव के बाद यह सभी बातें यह समस्या हवा-हवाई हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *