न्यूज़ टुडे -जीयर के कोरोंटाइन  सेंटर में बिषधर सांप निकलने से अफरा तफरी का माहौल ,,,,,

दीपक विश्वकर्मा ( 9334153201 ) अस्थावां  प्रखंड  स्थित जीयर  के सरकारी स्कूल  में बनाए गए कोरोंटाइन सेंटर के प्रवासी मजदूर दहशत के साए में जी रहें हैं | आज इस कोरोंटाइन  सेंटर में बिषधर सांप निकलने से अफरा तफरी का माहौल कायम हो गया | जैसे सांप बाहर निकला सभी प्रवासी मजदूर दौड़ पड़े और उसे ईंट पत्थरों से उसे मार दिया | दरअसल इसी इलाके के एक युवक में कोरोना  पॉजिटिव पाए गए थे उसके बाद उसे विम्स में इलाज के लिए रखा गया था जहां उसकी मौत हो गई | मौत के बाद जिला प्रशासन ने इस पूरे इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया मगर यह केवल घोषणा बन कर रह गई है  | हम आपको बता दें की इस कोरोंटाइन सेंटर में दिल्ली ,सूरत, गुजरात, नोएडा के कुल 85  प्रवासी मजदूर कोरोंटाइन किये गए हैं |  जिनका न तो आज तक स्कैनिंग किया गया है न तो कोई जांच हुई है और न ही इन्हें खाने पीने की व्यवस्था की गई है जिसके कारण इनकी हालत बदतर हो गई है सबसे बड़ा पहलू यह है कि मृत युवक जिन जिन लोगों के संपर्क में आया था उनकी जांच होनी थी मगर वह भी नहीं हुआ |

चंदन कुमार बताते हैं कि जिस युवक में करोना पॉजिटिव पाए गए थे वह उसके संपर्क में आया था मगर न तो उसकी जांच हुई और न ही कोई सुविधा दी गई | जहां तक सोशल डिस्टेंसिंग  की बात है तो वह बेनामी साबित हो रही है | जिससे यहां संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है | वहीं गाजियाबाद से आई श्यामा देवी का कहना है कि अस्थावां  में उन्हें सूखा  चूड़ा मिला मगर गांव आने के बाद उनके छोटे-छोटे बच्चे भूख से बिलख रहे हैं |  अब इधर हम बात करते हैं सोनालाल रविदास की तो इन्हें अस्थावां  के इंजीनियरिंग कॉलेज में कोरोंटाइन  किया गया था और वहां से इन्हें होम कोरोंटाइन के लिए गांव भेज दिया गया मगर जब ये  गांव पहुंचे तो गांव वाले ने इन्हें रहने नहीं दिया अंततः ये जीयर  के सरकारी स्कूल  में बनाए गए कोरोंटाइन  सेंटर  आ गए अब यहां भी उन्हें रहने नहीं दिया जा रहा है | यानी सीधे तौर पर यह कहा जा सकता है कि जिला प्रशासन के दावे ग्राउंड जीरो पर खोखले साबित हो रहे हैं | इधर अस्थावां के अंचलाधिकारी सुनील कुमार इन आरोपों को बेबुनियाद बता रहें हैं उनका कहना है की इस  कोरोंटाइन  सेंटर  पर प्रतिदिन मेडिकल टीम जाती है और नियमित रूप से सभी की जाँच की जा रही है जहां तक खाने की बात है तो वह भी इन लोगो को समय के अनुसार दिए जा रहे हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!