दीपक विश्वकर्मा,,, कहते हैं किसी भी संस्थान में कर्मी पर अत्यधिक विश्वास करना घातक सिद्ध हो सकता है। ऐसी ही घटना बिहारशरीफ के आरपीएस स्कूल में घटी है जहां विश्वासपात्र तीन कर्मियों ने मिलकर स्कूल से 2 करोड़ 80 लाख का गबन कर लिया। इस मामले में स्कूल के संचालक अरविंद कुमार सिंह ने बिहार थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई।

दर्ज प्राथमिकी के आधार पर बिहार थाना पुलिस ने कागज़ी मोहल्ला निवासी स्वर्गीय सुधीर कुमार गांगुली के पुत्र सुदीप कुमार गांगुली और गढ़ पर निवासी विश्वनाथ प्रसाद की पत्नी सिमरन कुमारी को गिरफ्तार कर लिया है। वर्तमान में सिमरन रहुई रोड में निजी स्कूल चलाती है। इस मामले में एक आरोपित दीपनगर के नवीनगर निवासी सुभाष प्रसाद उर्फ अमित है जो फरार चल रहे हैं ।जिसकी तलाश पुलिस कर रही है ।दरअसल पूरा मामला फी कलेक्शन से जुड़ा है। फीस कलेक्ट कर राशि को बैंक में जमा कराने की जिम्मेदारी इन्हीं लोगों की थी। कोविड के समय 2021 से ऑफलाइन क्लास आरंभ हुआ, तब अभिभावक शिकायत करने आए कि जिस अवधि का ट्यूशन फीस कार्यालय में जमा करा दिए गए हैं उस माह का बिल फिर से भेजा जा रहा है ।

जांच के बाद पता चला कि तीनों ने साजिश कर फर्जी रसीद छपवा कर फीस कलेक्शन कर लिया है। यही नहीं कंप्यूटर में फीस डिटेल की भी एंट्री नहीं थी। काफी संख्या में बिल कैंसिल दिखाया गया था। स्कूल का रुपया बैंक खाते में जमा नहीं करने के बजाए तीनों ने गबन कर लिया। कंप्यूटर से बिल कैंसिल कर दो करोड़ और फर्जी रसीद के माध्यम से ₹80 लाख का गबन किया गया है। पूछताछ में आरोपी ने गबन की बात को स्वीकार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed